Home / How To - Latest Information / क्या करें जब दिन एकदम खराब जा रहा हो ? कुछ आसान से टिप्स आपका दिन बनाने के लिए ।

क्या करें जब दिन एकदम खराब जा रहा हो ? कुछ आसान से टिप्स आपका दिन बनाने के लिए ।

इस दुनिआ में अनगिनत ग्रह(planets ) हैं , दुनिआ का प्रत्येक ग्रह अपनी जगह पर सटीक है, यदि एक भी ग्रह अपनी जगह से एक इंच भी अनिर्धारित तरीके से हिला तो ये धरती एक पल में ख़ाक में मिल जाएगी । सूरज अपने समय पर निकला हवा अपने समय पर चल रही है लेकिन आप मेरे दोस्त, आपके साथ कुछ आपकी मर्ज़ी के खिलाफ हुआ है और आपको लगता है की समय खराब चल रहा है आज का दिन अच्छा नहीं है, वह कमाल हैं आप : सद्गुरु जग्गी वासुदेव

अंदरूनी तौर पर ये बात बिलकुल सही है की हर दिन अच्छा होता है कोई भी दिन बुरा या खराब नहीं होता लेकिन ये भी सच है की ज़िंदगी वैसी नहीं होती जैसी की किताबो में पढ़ाई जाती है । कभी कभी हमारे साथ ऐसा सच में होता है की एक के बाद एक चीज़ें ख़राब होती जाती हैं और दिन परेशानियों और समस्याओं से भरा होता है अब यदि ऐसा हो रहा है तो ये कहकर पीछा तो नहीं छुड़ाया जा सकता की ये सब भरम है । जो एक के बाद एक परेशानियां आ रही हैं लोगो से बहस हो रही है सभी काम ख़राब हो रहे हैं समय खराब चल रहा है ?तो क्या करें जिससे आपका बचा हुआ दिन अच्छा जाये? इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले हैं कुछ आसान से टिप्स जो अचूक हैं और आप यदि थोड़ा दिमाग से काम लेंगे तो सब ठीक होगा बस इसे अंत तक पढ़िए ।

क्यों होता है दिन खराब ?

सबसे पहले तो ये जान लीजिये की आपका दिन आखिर एकदम से ख़राब हो कैसे जाता है ? तो इसका जवाब है प्रतिक्रिया करने की वजह से, आप किसी भी चीज़ पर जैसी प्रतिक्रिया देतें हैं वैसे ही अनुभव जीवन में आपको और भी मिलते हैं , इसके बारे में आगे विस्तार में बात करेंगे अभी जानते हैं की क्या करना चाहिए जब समय खराब चल रहा है

1 ) 1 – 2 मिनट का ब्रेक लीजिये और ज़िम्मेदारी लीजिये सब ठीक करने की

यदि आपके साथ भी ऐसा होता है की दिन में सुबह से आप जहाँ भी जा रहे हैं लोगो से नेगेटिव प्रतिक्रिया मिल रही है और सब कुछ बिगड़ता जा रहा है तो एक दो मिनट का विराम लीजिये , एक गिलास पानी पीजिये और अपना पूरा ध्यान पानी के ऊपर केंद्रित कर दीजिये, थोड़ा थोड़ा करके पानी पीजिये और देखने की कोशिश करिये की पानी पके मुँह में कहाँ कहाँ कैसे कैसे जा रहा है और कैसे गले से उतर रहा है । इसका मक़सद है आपके ध्यान को भटकाना जैसे ही आपका ध्यान बहार की ख़राब हो रही चीज़ों से हटेगा आपका मन शांत होने लगेगा और यही समय है नयी शुरुवात करने का ।

लांब साँसे लीजिये और स्वयं को शांत कीजिये

इस छोटे से ब्रेक में जो दूसरा काम आपको करना है वो है लम्बी सांसे लेने का कम से कम 90 सेकंड तक लम्बी सांसे लीजिये ।

इससे क्या होगा ?

अपने बच्चो को देखा होगा वो कितने खुश रहते हैं और वहीँ हम जैसे जैसे बड़े होते जाते हैं टेंशन में घिरते जाते हैं इसका एक कारण यह भी है की बच्चे अपने पेट से सांस खींचते हैं और टेंशन में रहने वाले व्यक्ति की साँसे या तो सीने से अति है या गले से । जब आप लम्बी साँसे लेते हैं तो आपके शरीर के ब्लॉक्स खुलने लगते हैं और  आप बहुत अच्छा और शांत महसूस करते हैं कुछ ही पलों में ।

2 ) अपने दिन को ठीक करने का ज़िम्मा लीजिये

अब आपको अपने दिन को ठीक करने का ज़िम्मा लेना है और ऐसा बस शांत मन से ही किया जा सकता है, अब आप अपने हर कार्य के प्रति सजग रहे और ध्यान रखें की आपका ध्यान बस अपने काम पर हो ।

3 ) प्रतिक्रिया ना करें

तो जैसा की हम ऊपर बता चुके हैं की आपका दिन पूरी तरह से इस बात पर निर्भर नहीं करता की आपके साथ क्या होता है? बल्कि इस बात पर निर्भर करता है की आपके साथ जो होता है उसपर आप किस तरह का reaction देते हैं यानि किस तरह की प्रतिक्रिया देते हैं ।

अब क्या करना है ?

आपको ध्यान रखना है की आप कम से कम चीज़ों पर अपनी प्रतिक्रियां दें , यदि कुछ गलत हो रहा है तो उसका दुःख मानाने या दुनिआ को कोसने की बजाये समय लगाए उस समस्या को हल करने में एक उदहारण के तौर पर यदि आप ऑफिस के लिए लेट हो रहे हैं और ऑफिस की बिल्डिंग में आपकी गाड़ी पार्क करने की जगह पर किसी और ने अपनी गाड़ी लगा दी है तो आप स्वयं को समझाएं की इस पल का सच ये है की मुझे पार्किंग के लिए एक दूसरी जगह चाहिए ऐसा करते ही आपका दिमाग दुःख मनाने या बुरा रिएक्शन देने की जगह समाधान खोजेगा किसी और जगह गाड़ी पार्क करते वक़्त अपना ध्यान बस अपने कम में लगाए न की उस व्यक्तो को कोसने में जिसने आपकी जगह पर अपनी गाड़ी लगा दी ।

4 ) अपने मन को सकारात्मक बातों में लगाएं , आगे बढ़ें।

समय खराब चल रहा है

आप समय से घर से निकले थे फिर भी लेट हो गए , आज सुबह से 3 फ़ोन कॉल्स ए हैं और तीनो बस नेगेटिव समाचार के साथ , ठीक है लेकिन अभी तो पूरा दिन बचा है न? इसको तो ठीक कर ही सकते हैं आइये जानते हैं

क्या करना है ?

60 सेकंड का समय लीजिये और ज़रा गिनिए आज सुबह से कितनी बातें अच्छी हुयी हैं ?

जैसे आप स्वस्थ्य है , आपके पास करने के लिए काम है , एक परिवार है , दफ्तर है दोस्त हैं , और जो जो है सबको गिन डालिये, ईश्वर को धन्यवाद् दीजिये कुछ भी कम शुरू करने से पहले । साथ ही ये भी सोचिये की आपको खाने में क्या क्या अच्छा लगता है? आपकी ड्रीम ट्रेवल डेस्टिनेशन क्या है? सब ठीक होगा तो खान घूमने जायेंगे, और यकीनन आप अच्छा महसूस करेंगे ।

क्या होगा इससे ?

आपका दिमाग परेशानियों का रोना छोड़ कर अच्छी बातों में लगेगा और इससे वह कड़ी टूट जाएगी जो आपके दिन को आगे भी खराब ही करने वाली थी ।

5 ) वर्त्तमान में रहे अपना काम करते रहे आगे बढ़ते रहे

जो कल हुआ था वो आज भी परेशान कर सकता है या जो 10 साल पहले किसी ने कहा था वो आज भी रुला सकता है, ये कमाल है आपके दिमाग का । अपने दिमाग को पूरी तरह यदि आप इस पल, इस क्षण में लगाएंगे और उस काम में लगाएंगे जो आप अभी कर रहे हैं तो धीरे धीरे वो पूरी तरह शांत होने लगेगा, इससे आपके काम में भी अच्छी क्वालिटी आएगी और सब अच्छा हो जायेगा ।

6 ) सबकुछ अपने हिसाब से करने की ज़िद को थोड़ा विराम दें

समय खराब चल रहा है

ज़्यादातर परेशानियां यदि आप ध्यान देंगे तो पाएंगे की इस वजह से हैं की आप चाहते थे सब कम आपके हिसाब से हो लेकिन ऐसा हुआ नहीं , तो जब चीज़ें ख़राब हो रही हों तो स्वयं को समर्पण कर दें इस प्रकृति, इस ईश्वर के प्रति और बस अपने कम पर ध्यान लगाएं

काम करते रहिये आगे बढ़ते रहिये यही जीवन है, परेशानिया फिर आएंगी, और फिर ऐसे ही शांत मन से उनका सामना करेंगे हारेंगे नहीं ।

Share Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *