Home / How To - Latest Information - Make Money / इस तकनीक को कहते हैं ब्रहम्माण्ड की चाभी, कुछ भी हासिल करने के लिए जानें।

इस तकनीक को कहते हैं ब्रहम्माण्ड की चाभी, कुछ भी हासिल करने के लिए जानें।

भाग दौड़ तो सब कर रहे हैं, पैसा तो सबको कमाना है, सबको चाहिए सपनो का घर लेकिन मिलता कितनो को है ? इस तकनीक को कहते हैं ब्रहम्माण्ड की चाभी, कुछ भी हासिल करने के लिए जानें।

रिसर्च कहती है इस पूरी दुनिआ का 96 % पैसा दुनिआ के सिर्फ 4 % लोगो के पास है और बाकि 4 % पैसे में पूरी दुनिआ का गुज़ारा हो रहा है । लोगो का मानना है ऐसा इसलिए भी होता है क्युकी सफल लोग कुछ ऐसी रहस्यमयी बातें जानते और उनपर अमल करते हैं जो बाकि लोगो को नहीं पता होती । अब सही ज्ञान का क्या महत्व होता है ये तो पूरी दुनिआ को पता है समस्या बस इतनी सी है हमें चाहिए तो सब कुछ लेकिन उसको पाने के लिए हम अपने जीवन में बदलाव कुछ नहीं करना चाहते । यदि सही दिशा में काम करेंगे तो सही परिणाम भी आएंगे, आइये जानते हैं क्या है ब्रहम्माण्ड की चाभी का सबसे बड़ा रहस्य ?

ब्रहम्माण्ड का सबसे बड़ा रहस्य ।

ये जो तकनीक हम आज आपको बताने जा रहे हैं इसको हमने ईजाद नहीं किया है बल्कि यह रहस्य सदियों से लोग जानते और इस्तेमाल करते आएं हैं बस हमें यह बातें स्कूल और कॉलेज में नहीं पढ़ाई जाती हैं इसीलिए हम अनजान हैं ब्रहम्माण्ड की चाभी को इन बातों से ।

निकोला टेस्ला ने बताया था 369 को चमत्कारी नंबर्स

निकोला टेस्ला अमेरिकन ही नहीं बल्कि दुनिआ भर के इतिहास के सबसे महान वैज्ञानिको में से एक हैं जिन्होंने विज्ञानं के क्षेत्र में ऐसी कई बड़ी खोजें की जिनकी वजह से आज हमारी ज़िंदगी इतनी आरामदेह है, निकोला टेस्ला के बारे में तो आप जानते ही होंगे नहीं जानते तो इस आर्टिकल को यही रोक कर थोड़ा उनके बारे में इंटरनेट से जान लीजिये । निकोला टेस्ला 3 अंको 3 6 और 9 को बड़ा ही चमत्कारी मन करते थे,

वह जब अपने ऑफिस जाते थे तो कहा जाता है की वो पहले अपने ऑफिस की बिल्डिंग के 3 चक्कर लगते थे और फिर ऑफिस जाते थे। वह जिस प्लेट में खाना कहते थे उसे पहले 18 नैपकिन से साफ किया करते थे, टेस्ला जिस होटल के कमरे में रुकते थे उसका नंबर 3 से डिवाइड होना ज़रूरी था नहीं तो वह वहां नहीं रुकते थे, होटल की टिप तक वह 3 6 या 9 डॉलर ही देते थे ।

क्या कहा था लोगो को रहस्य के बारे में ?

If  you want to understand the secrets of the universe, think in terms of energy, frequency and vibration

यदि आप ब्रहम्माण्ड की चाभी के रहस्यों को जानना चाहते हैं तो आपको ऊर्जा, आवृति और कम्पन के बारे में सोचना चाहिए ।

क्या है ब्रहम्माण्ड की चाभी ?

 ब्रहम्माण्ड की चाभी

इस रहस्य के अनुसार आपको अपनी कल्पना शक्ति, अपने अंतर्मन की शक्ति और इन तीन चमत्कारी अंको 3 6 और 9 को एक साथ मिलकर इस्तेमाल करना है वो हासिल करने के लिए जिसे भी आप पाना चाहते हैं ।

क्या करना है ?

आपको जो भी चाहिए वह आपके मन और मस्तिष्क में एक दम साफ होना चाहिए मान लीजिये आपको अपने सपनो का घर चाहिए तो आपको मन में एक विचार लाना है की आपने अपने सपनो का घर खरीद लिया है और आप अपने परिवार के साथ उस घर में रह रहे हैं ।

17 सेकंड तकनीक का करना है इस्तेमाल ?

ऐसा कहा जाता है की जब आप किसी भी विचार को 17 सेकंड तक लगातार अपने मन में देखते हैं तो आप उस विचार से मिली जुली ऊर्जा में आजाते हैं और वह चीज़ जिसका विचार आप मन में सोच रहे हैं वह आपकी ओर कई गुना तेज़ी से आकर्षित होने लगती है । दुनिआ भर के बड़े लेखकों और वक्ताओं का मानना है की बेहद चमत्कारी है 17 सेकंड तकनीक

कैसे प्रयोग करना इस रहस्य को ?

बहुत ही आसान सा काम है लेकिन शर्त ये है की आप इसे कम से कम 40 दिन तक रोज़ाना करेंगे और करना ऐसे है की आपके पसंदीदा विचार को 17 सेकंड तक महसूस करना है की वह काम हो चूका है, सुबह 17 सेकंड के 3 सेट्स , दोपहर में 6 सेट्स और रत को सोने से पहले 9 सेट्स करने हैं आपको ।

यदि आप जीवन में एक बड़े पद पर नौकरी चाहते हैं तो ऐसा विचार बनाएं की आपको वह नौकरी मिल गयी है, देखें की आप और आपका परिवार उस नौकरी के मिलने से कितना खुश हैं और इस विचार को देखें साथ ही इसके भावों को महसूस करें 17  सेकंड तक सुबह 3 बार, दोपहर में 6 बार और रत को सोने से पहले 9 बार ।

किन बातों का रखना है ध्यान ?

ध्यान रखिये की आप कुछ ऐसा न मांगे जिससे किसी का नुक्सान होता हो

यदि आप स्वयं अमीर बनना चाहते हैं तो ये एक अच्छी बात है और आपको ऐसा विचार अवश्य रखना चाहिए लेकिन यदि आप ये सोचते हैं की आपके पडोसी का सारा पैसा आपको मिल जाये और वह गरीब हो जाये, आप अमीर हो जाएं तो यकीन मानिये आप अपना ही नुकसान कर बैठेंगे, आपको केवल अच्छा ही सोचना है अपना भी और दूसरों का भी , इससे इस ब्रहम्माण्ड की सारी ऊर्जा आपका साथ देगी और आपकी इच्छा अवश्य पूरी होगी ।

अपने साथ कम से कम एक व्यक्ति का भला होते हुए अवश्य देखें ।

आपको इस बात का भी ध्यान रखना है की आपके विचारो की दुनिआ में भला सिर्फ आपका ही नहीं और लोगो का भी हो रहा हो यानि दूसरों को भी अपने साथ आगे बढ़ते हुए देखेंगे तो आपकी इच्छा जल्दी ही पूरी होगी । यदि आप एक व्यापर शुरू करना चाहते हैं तो विचार ऐसा रखिये की मेरा व्यापार बहुत बड़ा हो गया है और मैं हज़ारों लोगो को रोज़गार प्रदान कर रहा हूँ, मेरे व्यापर से उनके घरों में भी खुशियां आगयी हैं और हम ऐसा सामान या सेवाएं देते हैं जिससे दुनिआ के लोगो का जीवन आसान और सुखद हो रहा है और उसके बदले में लोग हमें ख़ुशी ख़ुशी अच्छे पैसे देते हैं जिससे हम करोडो रूपए कमा रहे हैं । ऐसे विचार आपको केवल पैसे या सफलता ही नहीं सुख भी देंगे और शांति भी

क्या होगा ऐसे विचारों से ? कैसे जाने की यह काम कर रहा है ।

यदि इस दुनिआ में कोई व्यक्ति आपसे ये कहता है की बिना मेहनत या काम करे आप सफल या अमीर बन जाओगे तो वह आपको सिर्फ बेवकूफ बना रहा है । इस दुनिआ में मेहनत तो करनी ही पड़ती है बस आप अपनी अक्ल लगा लेंगे तो थोड़ी कम मेहनत में आपका काम हो जायेगा तो इस तकनीक को करने से होगा ये की आपका मन उस सकारात्मक ऊर्जा से भर जायेगा और आपको ऐसे नए नए सुझाव लेकर देगा की कैसे आप अपने सपनो का घर या अपने व्यापर को हासिल कर सकते हैं और इससे आप ये समझ सकते हैं की आप सही राह पर चल रहे हैं ।

इसके बाद क्या करना है ?

जब आपके मन में अच्छे ideas , या plans आने लगे, जब आपका मन आपको नए नए तरीके बताने लगे की कैसे आप अपने सपनो को सच कर सकते हैं तो अब यह आपका कम  है की आपको उन तरीको/सुझावों पर अमल करना होगा, उस रस्ते पर मेहनत करनी होगी और इस बार आपको वो सफलता मिलेगी जो अपने आज तक नहीं हासिल की होगी ।

यह कब काम करेगा ?

जब आप इसे रोज़ाना अभ्यास करेंगे, बिना किसी बहाने के, बिना भूले , बिना रुके और अगर आप इसे अभ्यास नहीं करेंगे तो आप भी किसी दिन यही सोचेंगे की यह सब बकवास होता है और कभी काम नहीं करता, अपने सपनो का जीवन पाना हमारी क़िस्मत में नहीं है । यदि आप स्वयं को बदलेंगे तो जीवन भी बदलेगा यकीन रखिये, सब आपके ही हाथों में है ।

Share Now

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *